Sports

Ind vs WI: पृथ्वी शॉ ने ठोका पहला शतक, सचिन और कोहली से भी निकले आगे

04_10_2018-shaw_debut_test_century_prithvi_indvswi_18497013

भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच खेले जा रहे राजकोट टेस्ट मैच में भारत के युवा ओपनर पृथ्वी शॉ ने शानदार शतक जड़ा। ये इस खिलाड़ी के पहले टेस्ट मैच की पहली ही पारी थी और शॉ ने ये दिखा दिया कि 18 साल की उम्र में ही उन्हें भारत के लिए खेलने का मौका क्यों मिला? शॉ ने इंटरनेशनल क्रिकेट की पहली ही पारी में वो कमाल कर दिखाय जो विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर जैसे दिग्गज़ खिलाड़ी भी नहीं कर सके

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और सचिन तेंदुलकर भी अपने टेस्ट करियर की पहली पारी में शतक नहीं जड़ सके थे। सचिन ने अपना पहला टेस्ट पाकिस्तान के खिलाफ 1989 में खेला था। कराची में खेले गए पहले टेस्ट की पहली पारी में सचिन 15 रन बनाकर आउट हो गए थे। वहीं विराट कोहली ने अपना पहला टेस्ट 2011 में वेस्टइंडीज़ के खिलाफ खेला था। किंगस्टन में खेले गए उस मैच में कोहली 04 रन बनाकर आउट हो गए थे।

पृथ्वी शॉ ने अपने पहले टेस्ट मैच में शतक जमाने के लिए 99 गेंदों का सामना किया। इस पारी में शॉ ने 15 चौके जड़े। अपनी पहली टेस्ट पारी में शॉ 134 रन बनाकर बिशू के शिकार बने।  शॉ अपने पहले मैच में लोकेश राहुल के साथ पारी की शुरुआत करने उतरे, लेकिन जब इन दोनों के बीच तीन ही रन की साझेदारी हुई थी की राहुल आउट हो गए। इसके बाद पृथ्वी शॉ और पुजारा ने मिलकर भारतीय पारी को आगे बढ़ाते हुए 206 रनों की साझेदारी की।

पृथ्वी शॉ ने हासिल की ये खास उपलब्धि

पृथ्वी शॉ ने सिर्फ इंटरनेशनल क्रिकेट के डेब्यू में ही शतक नहीं जड़ा है। शॉ इससे पहले रणजी ट्रॉफी के अपने डेब्यू मैच में भी सेंचुरी लगा चुके हैं। इतना ही नहीं शॉ ने दिलीप ट्रॉफी के अपने डेब्यू मैच में भी सैंकड़ा लगाया था।

रणजी ट्रॉफी डेब्यू- 120 रन, राजकोट

दिलीप ट्रॉफी डेब्यू- 154 रन, लखनऊ

टेस्ट डेब्यू- 134 रन- राजकोट 

 

by – jagran.com